‘बंगला प्रेमी अफसरों का सामान बाहर फेंकने की तैयारी, एसीएस गृह केके सिंह ने बैठक बुलाई

पुष्पेंद्र सिंह, भोपाल//डेढ़ दर्जन से ज्यादा नौकरशाह भोपाल के सरकारी बंगले छोड़ने को तैयार नहीं हैं। इनमें कई सेवानिवृत्त हो चुके हैं तो अधिकांश भोपाल से बाहर ट्रांसफर किये जा चुके हैं। आवास खाली नहीं होने से तबादलों पर भोपाल आये अन्य प्रशासनिक सेवा के अफसरों को किराये के मकानों में रहना पड़ रहा है। आवास खाली नहीं करने वालों में चार कलेक्टर भी हैं। अधिकारियों को सरकारी आवास आवंटन नहीं होने की शिकायतें मुख्यसचिव और अपर मुख्य सचिव गृह के पास लगातार पहुंच रही हैं। इस समस्या को देखते हुए एसीएस गृह केके सिंह ने राज्य स्तरीय आवंटन समिति की बैठक बुलाई। इस दौरान एक लिस्ट सौंपी गई है। बताया गया कि सीनियर स्तर के कई आईएएस अफसर सरकारी बंगला छोड़ने को तैयार नहीं हैं।  राज्य स्तरीय आवंटन समिति ने फैसला लिया है कि सभी को नोटिस जारी किए जाएं। जिन नौकरशाहों ने छह माह से अधिक रहने के बाद भी बंगला खाली नहीं किया है उनसे बाजार दर पर आवास का किराया वसूला जाये। तैयारी यहां तक है कि अगर आवास खाली नहीं होता है तो सामान बाहर कर दिया जायेगा। इनमें ऐसे अधिकारी भी हैं जो सेवानिवृत्त हो चुके हैं फिर भी बंगला मोह बना हुआ है। राज्य शासन ने चार आईएएस को जिलों में कलेक्टर बना दिया फिर भी ये अधिकारी आवंटित आवास खाली करने का नाम नहीं ले रहे हैं।
छह माह से ज्यादा नहीं: नियम है कि किसी अधिकारी का स्थानान्तरण होने अथवा सेवानिवृत्त होने पर उसे ज्यादा से ज्यादा और छह माह सरकारी बंगले में रहने की छूट दी जायेगी लेकिन भोपाल के चार इमली, 74 बंगले, 45 बंगले सहित अन्य पॉश इलाकों में सरकारी आवास खाली नहीं किये जा रहे हैं।
 इन्हें कई नोटिस
खबर है कि एसीएस पद से सेवानिवृत्त हुए राकेश अग्रवाल ने अबतक बंगला नहीं छोड़ा है। गृह विभाग उन्हें तीन नोटिस जारी कर चुका है। विभाग उन्हें फिर कड़ी चेतावनी के साथ आवास खाली करने का नोटिस देने वाला है। एसीएस पद से ही करीब डेढ़ साल पहले रिटायर हुए आरके स्वाई को भी नोटिस थमाये गये थे। स्वाई को दूसरा नोटिस दिया जाता इसके पहले उन्होंने सूचना कर दी कि सरकारी आवास खाली कर दिया है।
ये अफसर जमे
गृह विभाग ने 16 आईएएस, आईपीएस और आईएफएस अफसरों की सूची तैयार की है जिनसे आवास खाली कराया जाना है। इनमें मुख्यतौर पर दतिया के कलेक्टर नागर गोजे मदन कुमार, अशोकनगर के कलेक्टर बाबू सिंह जामोद, सीधी कलेक्टर अभय कुमार वर्मा और एक अन्य आईएएस अधिकारी हैं। भारतीय पुलिस सेवा के अफसरों में जबलपुर में पदस्थ एडीजी डी श्रीनिवास राव, भारतीय वन सेवा के अधिकारियों में मंगेश त्यागी और प्रशांत कुमार हैं। प्रशांत कुमार डेढ़ साल से दिल्ली में प्रतिनियुक्ति पर पदस्थ हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »