पश्चिम बंगाल :सत्ता और ब्यूरोक्रेसी के बीच तनाव ,नाराज़ IPS भारती घोष ने इस्तीफा दिया

पश्चिम बंगाल में इन दिनों सत्ता और ब्यूरोक्रेसी के बीच तनाव चल रहा है. इस मुद्दे पर आमने सामने राज्य की महिला मुख्यमंत्री और महिला आईपीएस है. राज्य सरकार ने आईपीएस ऑफिसर भारती घोष का तबादला किया, तो IPS ने नाराज़ होकर अपना इस्तीफा सौंप डाला.भारती का पश्चिम मिदनापुर पुलिस अधीक्षक पद से ट्रांसफर कर दिया गया था, जिसके बाद उन्होंने पुलिस महानिदेशक सुरजीत कर पुरकायस्थ को अपना इस्तीफा दे दिया है. उनका तबादला तीसरी बटालियन के कमांडेंट के तौर पर बैरकपुर भेज दिया था.

सूत्रों की मानें, तो मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और आईपीएस भारती के बीच पिछले 6 साल से ही तनाव चल रहा है. भारती इससे पहले झाड़ग्राम की पुलिस चीफ रह चुकी हैं, उसके बाद मिदनापुर जो कि एक माओवादी इलाका है वहां पर लंबे समय से तैनात थीं. अपने इस्तीफे में उन्होंने कहा कि चूंकि जिस जगह उनका ट्रांसफर किया गया है, उस जिम्मेदारी से वह खुश नहीं हैं इसलिए इस्तीफा दे रही हैं.

मिली जानकारी के मुताबिक मुख्यमंत्री बनर्जी ने जब राज्यसभा सांसद मानस भुइंया से बीजेपी के वोट बढ़ने की वजह पूछी तो उन्होंने इसके लिए भारती घोष को जिम्मेदार ठहरा दिया। मानसा ने ममता से ये तक कह डाला की वो आपकी नहीं बल्कि मुकुल रॉय की करीबी है। माना जा रहा है कि इसके बाद उनके तबादले का आदेश जारी हुआ था। गौरतलब है कि पार्क स्ट्रीट बहुचर्चित रेप कांड के बाद आईपीएस दमयंती सेन का सजा के तौर पर बैरकपुर में ही तबादला हुआ था।

कहा जा रहा है कि हाल ही में सबांग विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव में टीएमसी को जीत तो मिली लेकिन बीजेपी का वोट शेयर काफी बढ़ा. जिसके बाद राज्य सरकार कुछ तबादले कर रही है. कहा जाता है कि भारती के पूर्व टीएमसी नेता मुकुल राय से अच्छे संबंध थे, राय अब बीजेपी में शामिल हो चुके हैं. इससे पहले चुनाव के दौरान भी उनके तबादले को लेकर भी बवाल हुआ था.आपको बता दें कि भारती ने हावर्ड से प्रबंधन में डिग्री ली है, जिसके बाद भारत पुलिस सेवा में जाने से पहले यहां कलकत्ता प्रबंधन संस्थान में शिक्षक रह चुकी हैं. भारती घोष संयुक्त राष्ट्र के शांति मिशन के तहत लगभग एक दशक तक कोसोवो व बोसनिया में काम कर चुकी हैं.इसके अलावा खुफिया विभाग की महिला शाखा में भी अपने कामकाज के बूते अलग पहचान बनाई थी. वे वर्ष 2011 में ममता बनर्जी के मुख्यमंत्री बनने के बाद संयुक्त राष्ट्र मिशन से लौटी थीं.

 अटकलें .बीजेपी में शामिल हो सकती हैं

आपको बता दें कि झाड़ग्राम में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की सभा के दौरान उन्हें जंगलमहल की मां की उपाधी के नाम से सम्मानित किया गया था। वहीं दूसरी तरफ भारती के इस्तीफे के बाद ये अटकलें लगाई जा रही हैं कि वो बहुत जल्द ही बीजेपी में शामिल हो सकती हैं। घोष का 25 दिसंबर को पश्चिमी मिदानपुर से तबादला कर बैरकपुर कमिश्नरेट में स्टेट आर्म्ड पुलिस, थर्ड बटालियन का कमांडिंग ऑफिसर बनाया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »