कोलकाता में सांसद रूपा गांगुली के घर पहुंची CID,चाइल्ड ट्रैफिकिंग केस में पूछताछ

कोलकाता.पश्चिम बंगाल की क्रिमिनल इन्वेस्टिगेशन डिपार्टमेंट (CID) टीम ने शनिवार को बीजेपी की राज्यसभा सांसद रूपा गांगुली से चाइल्ड ट्रैफिकिंग केस में पूछताछ की। बता दें कि जलपाईगुड़ी चाइल्ड ट्रैफिकिंग केस में बीजेपी की वुमन विंग सेक्रेटरी जूही चौधरी को गिरफ्तार किया गया था। रूपा से पूछताछ के दौरान उनसे जूही चौधरी से रिश्ते और उनसे कथित मुलाकातों के बारे में सवाल किए गए।
 – CID के एक अफसर ने बताया- हमारे अफसरों की एक टीम शनिवार सुबह रूपा गांगुली के घर पहुंची। इस मामले में जूही चौधरी को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है। रूपा गांगुली से CID ने उनके और जूही के रिश्तों और कथित मुलाकातों के बारे में सवाल किए।
– बता दें कि इस साल की शुरुआत में CID ने एक ऐसे गैंग का भंडाफोड़ करने का दावा किया था जो बच्चों की खरीद-फरोख्त करता था। आरोप है कि ये बच्चों को गोद लेकर भी बेच देता था।
– इस अफसर ने कहा- हम ये जानना चाहते हैं कि जूही चौधरी से उनके कैसे रिश्ते हैं? इसके अलावा कुछ और जरूरी सवाल भी पूछे गए।
विजयवर्गीय को भी समन
– खास बात ये है कि इसी चाइल्ड ट्रैफिकिंग केस में ही बीजेपी के जनरल सेक्रेटरी कैलाश विजयवर्गीय को भी पूछताछ के लिए सीआईडी ने समन भेजा है। कैलाश के अलावा दो और नेताओं को भी भी जांच एजेंसी ने तलब किया है।
– सीआईडी ने इस केस में कई लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें एक शख्स दार्जिलिंग की चाइल्ड प्रोटेक्शन का डायरेक्टर है। इसके अलावा चाइल्ड वेलफेयर कमेटी का एक मेंबर भी गिरप्तार लोगों में शामिल है। इन पर एडॉप्शन डील के बाद बच्चों को बेचने का आरोप है।
– यह केस जलपाईगुड़ी के बिमला शिशु ग्रह से जुड़ा है। जूही चौधरी के अलावा, चिल्ड्रन होम की सोनाली मंडल, चंदना चक्रवर्ती और मानस भौमिक शामिल हैं।
17 बच्चों को बेचने का आरोप
– CID के मुताबिक, गिरफ्तार आरोपियों पर 1 से लेकर 14 साल तक के 17 बच्चे बेचने का आरोप है। ज्यादातर बच्चे विदेशियों को फर्जी एडॉप्शन पेपर्स पर बेचे गए।
– इस केस के सुराग पुलिस को पिछले साल 24 नाॅर्थ परगना जिले में छापों के दौरान मिले थे। इसके बाद पूरे राज्य में इसकी तफ्तीश की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »