पंजाब में जल्द होगा एसपीजी का गठन: कैप्टन

चंडीगढ़

पंजाबमें हथियारबंद हमलों को रोकने, आंतकवाद, घुसपैठ, हवाई जहाज अगवा करने, लोगों को बंदी बनाने आिद स्थितियों के साथ निपटने के लिए विशेष तौर पर प्रशिक्षण प्राप्त स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (एसपीजी) का गठन किया जाएगा। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राज्य पुलिस के इस प्रस्ताव को सैद्धांतिक स्वीकृति दे दी है।
सीएम की अध्यक्षता में हुई बैठक के दौरान एसपीजी की रूपरेखा बारे विचार विमर्श किया गया। यह छोटी परन्तु 270 सदस्यों वाली प्रभावी युवा और गतिशील टीम होगी। सीएम ने सुझाव दिया कि एसपीजी में से एक छोटी प्रमुख टीम को बगावत के साथ निपटने के सबन्ध में इजरायल में अति आधुनिक प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए भेजा जाए। सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि एसपीजी की स्थापना संबंधी प्रस्ताव कैबिनेट की आगामी बैठक दौरान रखा जाएगा। प्रस्ताव के अनुसार एसपीजी के प्रमुख एडीजीपी रैंक के एक अधिकारी होंगे और उस की आईजी और एक डीआईजी रैंक के अधिकारी सहायता करेंगे। एसपीजी को तीन टीमों में बांटा जायेगा। प्रत्येक टीम का नेतृत्व एक एसपी रैंक का अधिकारी करेगा जो कि 35 वर्ष की उम्र से कम उम्र का होगा। इस टीम में डी.एस.पी. रैंक  के अधिकारी 30 वर्ष से कम उम्र के होंगे जबकि ओ.आर. 18 से 25 वर्ष की उम्र के बीच होंगे। इन टीमों को विभिंन स्थितियों के साथ निपटने की विशेष निपुणता हासिल होगी। इन्हें फौज और एनएसजी दोनों की तरफ से प्रशिक्षण दिया जाएगा।
पुलिस  और अन्य विभागीय अिधकािरयों की बैठक में ग्रुप के गठन निर्णय लिया गया।
पुलिस  विभाग में से ही चुने जाएंगे एसपीजी के सदस्य 
कैप्टनने एसपीजी के लिए अधिकारियों और कर्मचारियों की शिनाख्त करने की प्रक्रिया शुरू करने के लिए कहा जो कि पुलिस विभाग में से लिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि यह काम तुरंत शुरू कर दिया जाए। मुख्यमंत्री ने यह सुझाव भी दिया कि एसपीजी की तरफ से अपना रूप ग्रहण कर लेने के बाद कमांडोज और स्वैट जैसी अन्य विशेष प्रशिक्षण प्राप्त इकाइयों को इस में मिला दिया जाए। एसपीजी में जो कर्मचारी और अधिकारी शामिल होंगे उन को अधिक तनख्वाह, राशन और अन्य भत्तों के अलावा प्रत्येक के लिए 1 करोड़ रुपए का बीमा कवर दिया जाएगा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »