पंजाब में रिटायर्ड आईएएस डॉ. अमर सिंह, यूपी में ig की पत्नी श्रीमती किरण यादव पराजित

भोपाल ब्यूरो। यूपी समेत देश के पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में भोपाल की पृष्ठभूमि से जुड़े लोगों की अहम भूमिका रही। वर्ष 1981 बैच के रिटायर्ड आईएएस अफसर डॉ. अमर सिंह, पुलिस महानिरीक्षक अंशुमान सिंह यादव की पत्नी श्रीमती किरण यादव और पूर्व मुख्य सचिव एमएस सिंहदेव की बेटी आशाकुमारी सिंह पंजाब और यूपी में चर्चा में रहे। आशाकुमारी सिंह को कांग्रेस हाईकमान ने पंजाब में चुनाव जितने की जिममेदारी दी थी। जबकि पॉवरफुल ब्यूराक्रेट रहे डॉ. अमर सिंह को पंजाब के रायकोट विधानसभा से टिकट दिया था, हालांकि वे हार गए। इसी तरह किरण यादव भी यूपी में समाजवादी पार्टी से चुनाव लड़ीं, लेकिन वे पराजित हो गर्इं।

ईमानदार छवि हुई पराजित
मध्यप्रदेश के निर्भीक एवं निष्पक्ष आईपीएस अफसरों में शुमार अंशुमान सिंह यादव की पत्नी श्रीमती किरण यादव भी उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में मोदी लहर के सामने नहीं टिक पार्इं। जनता से सीधा संवाद और ईमानदार छवि होने के बावजूद कड़े मुकाबले में किरण यादव 3371 वोट से शिकस्त खा गर्इं। गौरतलब है कि आईपीएस अंशुमान सिंह यादव के मुलायम सिंह यादव के परिजनों से बेहद नजदीकी रिश्ते हैं।

कांग्रेस को पंजाब जिताया भोपाल की आशा ने
पंजाब में कांग्रेस की जीत में भोपाल से जुड़ी आशाकुमारी का भी अहम भूमिका रही। भोपाल यूनिवर्सिटी छात्र संघ की अध्यक्ष रह चुकी आशा कुमारी को चुनाव से ठीक पहले ही पंजाब का प्रभारी बनाया गया था। आशा कुमारी हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह की भतीजी हैं और पांच बार हिमाचल प्रदेश में विधायक रह चुकी हैं। सरगुजा के शाही खानदान में जन्मी आशाकुमारी के पिता एमएस सिंहदेव मप्र के चीफ सेक्रेट्री भी रह चुके हैं। उनके भाई टीएस सिंह देव छत्तीसगढ़ विधानसभा में विपक्ष के नेता रह चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »