कश्मीर में एलओसी के पास गुरेज सेक्टर में जवानों के साथ  नरेंद्र मोदी की दिवाली

श्रीनगर. नरेंद्र मोदी गुरुवार को कश्मीर में एलओसी के पास स्थित गुरेज सेक्टर पहुंचे। यहां उन्होंने जवानों के साथ दिवाली मनाई। प्राइम मिनिस्टर ने जवानों को मिठाई खिलाई और कहा कि आप ही मेरा परिवार हैं। मोदी के साथ आर्मी चीफ बिपिन रावत, नॉर्दर्न कमांड चीफ ले. जनरल देवराज अन्बू और चिनार कॉर्प्स के कमांडर ले. जनरल जेएस संधू भी मौजूद थे। मोदी की इस विजिट का पहले खुलासा नहीं किया गया था। पिछले साल मोदी ने हिमाचल प्रदेश के किन्नौर में आईटीबीपी, आर्मी और डोगरा रेजीमेंट के जवानों के साथ दिवाली मनाई थी।

मोदी ने कठिन हालात में काम करने के लिए जवानों की तारीफ की। जवानों के बीच करीब 2 घंटे बिताए, उन्हें मिठाई बांटी और उनके परिवार को भी दिवाली की बधाई दी।
– जवानों के साथ दिवाली का सेलिब्रेशन करने के बाद मोदी ने ट्वीट किया, “आप लोगों (जवानों) के साथ वक्त बिताना मुझे एनर्जी देता है। हमने बातचीत की और मिठाई बांटी। मुझे जानकर खुशी हुई कि जवान रोज योग करते हैं। हमारी सेनाएं हमारी मातृभूमि की वीरता के साथ रक्षा करती हैं और समर्पण व बलिदान का प्रदर्शन करती हैं।”
 अच्छे योगा ट्रेनर बन सकते हैं जवान
– प्रधानमंत्री ने कहा, “भारत सरकार हर तरह से आर्म्ड फोर्सेस की बेहतरी और अच्छाई के लिए काम कर रही है। हमने वन रैंक-वन पेंशन लागू की। जो जवान आर्मी की अपनी ड्यूटी पूरी कर चुके हैं, वे बहुत अच्छे योगा ट्रेनर्स बन सकते हैं।”
– “अगर हम सब कोई लक्ष्य तय करें और उस पर काम करें तो 125 करोड़ भारतीय 2022 तक यानी आजादी की 75वीं वर्षगांठ तक भारत को 125 करोड़ कदम आगे ले जा सकते हैं।”
मोदी जवानों के साथ मनाते रहे हैं दिवाली
– 2014 में मोदी ने सियाचिन में जवानों के साथ दिवाली मनाई थी। यहां दुनिया में सबसे ज्यादा ऊंचाई पर आर्मी पोस्ट है।
– 2015 में उन्होंने अमृतसर, 2016 में उन्होंने हिमाचल के किन्नौर में जवानों के साथ दिवाली मनाई थी।
– किन्नौर में मोदी ने कहा था, “मैंने देखा कि करोड़ों भारतीयों ने जवानों के नाम का दीया जलाया। बड़े-बड़े कलाकार, क्रिकेट सितारे, व्यापारी, किसान, अफसर, मंत्री, प्रधानमंत्री, संतरी हर कोई जब दीया जला रहा था तो आपका चेहरा दिखाई दे रहा था।”
– हिमाचल में मोदी काफिला रुकवाकर अचानक यहां के सोम्दू के चांगो गांव में लोगों से मिले थे और लोगों को दिवाली की बधाई दी।
 क्या था #Sandesh2Soldiers कैम्पेन?
– मोदी ने पिछले साल सरहद पर तैनात जवानों को संदेश भेजने का कैम्पेन भी शुरू किया था।
– #Sandesh2Soldiers हैशटैग के साथ उन्होंने ट्विटर पर लिखा था, “देशवासी जब सैनिकों के साथ खड़े होते हैं तो उनकी ताकत सवा सौ करोड़ गुना बढ़ जाती है। मैंने अपना मैसेज भेज दिया है। आप भी जरूर भेजिए। आपके संदेश जवानों की खुशियां बढ़ा सकते हैं।”
– “आइए, दिवाली पर सीमा की निगरानी कर रहे जवानों के साहस को याद करें। जय हिंद।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »