आईपीएस अधिकारी ने बीजेपी सांसद के खिलाफ लिखा पोस्ट, फेसबुक ने हटाया

फेसबुक पर भारतीय जनता पार्टी के सांसद प्रताप सिन्हा की आलोचना करते हुए डीआईजी रूपा डी मुदगिल ने शुक्रवार को एक पोस्ट लिखा, जिसे कथित तौर पर कुछ ही देर बाद फेसबुक ने हटा दिया। रुपा ने इस पोस्ट में सांसद प्रताप सिन्हा पर गंभीर आरोप लगाए थे। रूपा ने इस पोस्ट में सांसद के विचारों को खतरनाक बताते हुए लिखा कि इनकी वजह से राज्य के प्रशासनिक अधिकारियों को उनकी पसंद के अनुरूप पद नहीं मिल रहा है।फेसबुक से पोस्ट को हटाए जाने के बाद उन्होंने लिखा, “ये अजीब है। माननीय प्रताप सिंह का विचारों विरोध करते हुए मैंने जो पोस्ट लिखा वह गायब हो चुका है। प्रिय फेसबुक, ये सही नहीं है।”

इसके बाद उन्होंने हटाया गया वह पोस्ट दोबारा से पोस्ट किया। 650 शब्दों के इस लेख में उन्होंने बताया कि प्रताप सिन्हा के विचार इतने ग़लत और खतरनाक हैं कि उनकी वजह से राज्य के अधिकारियों को उनकी पसंद के पद प्रदान नहीं किए जा रहे। उन्होंने इस पोस्ट में आईपीएस मधुकर शेट्टी का जिक्र करते हुए कहा कि उन्हें राज्य में अच्छा पद नहीं मिलने पर केंद्र का दरवाजा खटखटाया है।रूपा ने कहा कि नौकरशाही को राजनीतिक दवाबों से मुक्त होना चाहिए क्योंकि, नौकरशाही के राजनीतिकरण से समाज और व्यवस्थाएं बहुत लम्बे समय तक नहीं चल पाती हैं।”

वहीं प्रताप ने रूपा की बात का जवाब देते हुए कहा कि मधुकर शेट्टी का अच्छी पोस्ट न मिलने की वजह से पद छोड़ देना आपकी की कल्पना मात्र है। वास्तविकता तो यह है कि नियमों के अनुसार कोई पद अच्छा या बुरा नहीं होता। उन्होंने कहा कि शेट्टी को पिछली सरकार में भी आपके पैमाने के अनुसार उन्हें कोई अच्छी पोस्ट नहीं दी गई थी।बता दें मैसूर-कोडगु लोकसभा क्षेत्र से सांसद प्रताप सिन्हा के लिए विवादों से पुराना नाता है। हाल ही में वे उस समय चर्चा में आए थे जब उन्होंने कारगिल शहीद की बेटी और दिल्ली विश्वविद्यालय की छात्रा गुरमेहर कौर की फोटो को दाऊद इब्राहिम के साथ सोशल मीडिया पर शेयर किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »