IPS अधिकारी कुसुम पुनिया को किया था सेवामुक्त, अब होम मिनिस्ट्री ने फिर से सेवा में लिया

रांची : झारखंड कैडर की साल 2010 की आईपीएस अफसर और एसीबी की एसपी रह चुंकी कुसुम पुनिया को तैराकी न सीख पाने की वजह से सेवा से मुक्त किया गया था. अब केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कुसुम पुनिया को फिर से राज्य सरकार की सेवा में योगदान कराने का आदेश दिया है मंत्रालय द्वारा झारखंड राज्य की मुख्य सचिव राजबाला वर्मा को आदेश एमएचए की ओर से भेजा हैं. अब पुनिया ने तैराकी सीख ली है. और इसकी परीक्षा भी पास कर ली है. पुनिया ने पुनर्नियुक्ति के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय से अनुरोध किया था. अब एमएचए का आदेश आने के बाद पुनिया इसी माह झारखंड में योगदान कर सकेंगी.केंद्रीय गृह मंत्रालय ने आईपीएस कुसुम पुनिया को जुलाई 2016 में सेवा से मुक्त कर दिया था. उस समय वह प्रोबेशन की अवधि में ही थी. आईपीएस बनने के बाद वह साल 2011 के बैच के साथ नेशनल पुलिस अकादमी में आईपीएस की ट्रेनिंग में शामिल हुई थी. उन्होंने आईपीएस के फाउंडेशन कोर्स में तैराकी परीक्षा नहीं पास की. इसकी वजह से वह नौकरी में योगदान करने के बाद से लगातार प्रोबेशन में रही और उनकी सर्विस कंफर्म नहीं हो पाई. नेशनल पुलिस अकादमी से उन्हें बार बार अपनी ट्रेनिंग पूरी करने का निर्देश दिया जा रहा था. लेकिन वह तैराकी के कोर्स को पूरा नहीं कर पाई थी. उन्हें शो कॉज जारी करने के बाद एमएचए ने उन्हें आईपीएस सेवा से मुक्त करने का आदेश जारी कर दिया था. जिस समय उन्हें सेवा से मुक्त किया गया उस समय वह एसीबी की एसपी थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »