बाबा राम रहीम पर ये भी है घिनौना आरोप -बेटी के साथ अवैध संबंध ,पति ने कराया था केस

पंचकूला। गुरमीत राम रहीम के साथ फिल्मों से लेकर उनकी सजा होने के बाद तक साथ नजर आने वाली गोद ली गई बेटी हनीप्रीत के साथ बाबा के अवैध संबंध के आरोप लग चुके हैं। यह आरोप हनीप्रीत के पूर्व पति विश्वास गुप्ता ने लगाए थे। विश्वास गुप्ता के पिता ने बाबा पर कोर्ट केस भी किया था लेकिन बाद में समझौता होने के बाद तलाक हो गया था।
आगे पढ़िए क्या लगाए थे आरोप, क्या है पूरी कहानी…
 करनाल जिले के घरौंडा से 1962 और 1972 में दो बार एमएलए रहे रूलिया राम के बेटे एमपी गुप्ता ने 2011 में हाईकोर्ट में दायर अपनी याचिका में कहा था कि वह और उनका परिवार बाबा शाह सतनाम का अनुयायी था।
– 1990 में डेरे के चीफ बाबा गुरमीत राम रहीम बन गए। उस दौरान एमपी गुप्ता हरियाणा सरकार में असिस्टेंट इंजीनियर के पद पर थे।
– उनका आरोप था कि उन्होंने अपनी प्रोपर्टी व फैक्ट्रियां बेचकर जो पैसा आया वो डेरा सच्चा सौदा द्वारा चलाई जा रही अलग-अलग फैक्ट्रियों में निवेश कर दिया। उन्हें विश्वास दिलाया गया था कि उन्हें मुनाफा भी दिया जाएगा।
– 1997 में उनका परिवार डेरा सच्चा सौदा में शिफ्ट हो गया।
हनीप्रीत का असल नाम था प्रियंका, विश्वास गुप्ता से हुई थी शादी
– हाईकोर्ट में दायर की गई याचिका में बताया गया था कि बाबा के साथ रहने वाली उनकी दत्तक बेटी हनीप्रीत का असल नाम प्रियंका था। वह फतेहाबाद की रहने वाली है।
– बाबा ने उसका नाम बदलकर हनीप्रीत किया था। 14 फरवरी 1999 में हनीप्रीत और विश्वास गुप्ता की सत्संग में शादी हुई। इस दौरान कोई लेन देन व दहेज नहीं लिया गया।
फिर बाबा ने बनाया बेटी
– विश्वास गुप्ता ने आरोप लगाया था कि शादी के बाद भी हनीप्रीत डेरे में रहती थी। एक बार भी उसे विश्वास के साथ नहीं भेजा गया।
– विश्वास ने आरोप था कि हनीप्रीत के बाबा के साथ अवैध संबंध थे। वह उनके साथ कमरे में रहती थी।
– उसने जब इस पर आपत्ति जताई तो बाबा ने सार्वजनिक रुप से हनीप्रीत को अपनी तीसरी बेटी घोषित कर दिया और विश्वास गुप्ता को अपना दामाद बना लिया।
विश्वास गुप्ता और उसके पिता ने कर दिया था कोर्ट केस
– विश्वास गुप्ता और एमपी गुप्ता ने बाबा पर हाईकोर्ट में केस कर दिया था। काफी दिन तक केस चला। बाद में समझौता हो गया और दोनों में तलाक हो गया।
परिवार को मिलती रहती थी धमकी
– इस समय विश्वास गुप्ता व उनका परिवार पंचकूला में रह रहा है।
– बाद में एमपी गुप्ता केस हार गए थे। उन्होंने डेरा सच्चा सौदा में जाकर भी माफी मांगी थी।
हर वक्त बाबा के साथ नजर आती है हनीप्रीत
– हनीप्रीत को बाबा की तीसरी बेटी बताया जाता है। बाबा के साथ अधिकतर वही नजर आती है। बाबा की फिल्मों में भी वही हीरोइन थी।
– बीते शुक्रवार को जब बाबा को दोषी ठहराया गया तो उनके साथ हनीप्रीत ही थी। रोहतक तक वह बाबा के साथ रही।
– अब बाबा को सजा सुनाए जाने के बाद हनीप्रीत को गद्दी का सबसे बड़ा दावेदार माना जा रहा है।
बाबा को कोर्ट से भगाने की हुई थी कोशिश
– साध्वी के सेक्शुअल हैरेसमेंट केस में सीबीआई कोर्ट से दोषी करार दिए जाने के बाद पुलिस के 5 और डेरा के 2 प्राइवेट गार्ड्स ने राम रहीम को भगाने की कोशिश की थी। ये सभी बाबी की सिक्युरिटी में लगे थे। आईजी ने जब इन्हें रोकने की कोशिश की तो डेरामुखी के एक गार्ड ने आईजी पर पिस्टल तान दी और साइड में होने को कहा। इसके बाद आर्मी ने सातों को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया और राम रहीम को कब्जे में लेकर चंडी मंदिर चली गई।
– पंचकूला सेक्टर-5 थाना पुलिस ने सब-इंस्पेक्टर रामभगत की शिकायत पर डेरामुखी के सिक्युरिटी गार्ड प्रीतम और सुखबीर, एसआई कृष्णदास, हेड कॉन्स्टेबल विजय कुमार, हेड कॉन्स्टेबल अजय, ईएस रामबीर, कॉन्स्टेबल बलवान के खिलाफ देशद्रोह समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है।
जेल में कोर्ट लगाए जाने की तैयारियां
– बाबा को रोहतक की सुनारिया जेल में रखा गया है। यहां सोमवार को पहली बार कोर्ट लगेगी और पंचकूला सीबीआई कोर्ट के जज जगदीप सिंह सजा सुनाएंगे। जज को जेल के अंदर लाने के लिए हेलिकॉप्टर का इंतजाम कर लिया गया है। इसे सीआरपीएफ बटालियन ग्राउंड के हेलिपैड पर उतारा जाएगा। ये जेल 5 साल पहले बनाई गई है। दो दिन पहले यहां लाए गए राम रहीम को कैदी नंबर- 1997 मिला है।
– जेल कैंपस में सीआरपीएफ के लिए एडमिस्ट्रेटिव बिल्डिंग बनाने की तैयारी चल रही है। फिलहाल इसके लिए आला अफसरों की परमिशन मिलनी बाकी है। डेरा समर्थकों के जमा होने की आशंका के चलते पैरा मिलिट्री, आर्मी और पुलिस ने जेल के तीन किलोमीटर के दायरे में 7 चेक पोस्ट बनाए हैं। किसी को भी जेल की ओर जाने की इजाजत नहीं है।
– डीसी अतुल कुमार ने बताया कि जेल में 28 अगस्त के लिए कोर्ट रूम बनाने के लिए काम लगभग पूरा हो चुका है। सुनारिया जेल में सोमवार को तीन जेलों के सुपरिंटेंडेंट को तैनात किया गया है। आईजी जेल जगजीत सिंह भी सुनारिया में डेरा डाले हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »