मणिपुर के पूर्व CM – तीन पूर्व चीफ सेक्रेटरी के खिलाफ FIR, सरकारी फंड के गलत इस्तेमाल का आरोप

इम्फाल. मणिपुर के पूर्व सीएम ओकराम इबोबी सिंह और अन्य के खिलाफ सरकारी फंड्स के कुप्रबंधन और गलत इस्तेमाल के आरोप में एफआईआर दर्ज कराई गई है। अन्य जिन लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है, उनमें तीन पूर्व चीफ सेक्रेटरी डीएस पूनिया, पीसी लॉमकुंगा और ओ. नबाकिशोर सिंह शामिल हैं।
मणिपुर डेवलपमेंट सोसाइटी ने दर्ज कराई एफआईआर…
 –  मणिपुर डेवलपमेंट सोसाइटी (MDS) की तरफ से ये एफआईआर इम्फाल पुलिस थाने में शुक्रवार रात दर्ज कराई गई। इबोबी और 3 पूर्व चीफ सेक्रेटरी के अलावा एमडीएस के पूर्व प्रोजेक्ट डायरेक्टर वाई. निंगथेम सिंह और इसके एडमिनिस्ट्रेटिव ऑफिसर एस. रंजीत सिंह के खिलाफ भी केस दर्ज कराया गया है। एमडीएस के कामकाज में अनियमितता के इस मामले में इम्फाल पुलिस थाना इंचार्ज सुबोल सिंह ने ये केस दर्ज किया है।
– इस मामले की जांच 30 जून 2009 से लेकर इसी साल 6 जुलाई तक चली थी। एफआईआर नंबर 244 (9) के मुताबिक आईपीसी की धारा 420/406/120-B के तहत इन लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया। इन धाराओं में इन पर धोखाधड़ी, आपराधिक साजिश और भरोसा तोड़ने का आरोप लगा है। विजिलेंस डिपार्टमेंट ने भी इस मामले की जांच की थी।
MDS के चेयरमैन थे इबोबी
– इबोबी सिंह 1 जुलाई 2013 से 31 अगस्त 2014 तक एमडीएस के चेयरमैन थे। लिहाजा इस मामले में उनकी जांच होने और उनका बयान दर्ज किया जाना जरूरी है। इबोबी की चेयरमैनशिप में कई प्रोजेक्ट्स शुरू हुए थे, जिनके लिए ट्रांजैक्शन एमडीएस ने ही किए थे।
प्लानिंग डिपार्टमेंट ने भी की थी मामले की जांच
– प्लानिंग डिपार्टमेंट ने भी इस मामले की जांच कर रिपोर्ट फाइल की थी। जांच के दौरान वाई. निंगथेम सिंह एमडीएस के प्रोजेक्ट डायरेक्टर थे। मामले से जुड़े सारे दस्तावेज फिलहाल गायब हैं।
– बता दें कि इबोबी सिंह कांग्रेस के नेता हैं। वे प्रदेश में 3 बार लगातार सीएम रहे हैं। 2002 से लेकर 2017 तक वे इस पद पर थे। इबोबी ने मार्च में सीएम पद से इस्तीफा दे दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »