बाईपोल: 8 साल बाद BJP ने गवांई गुरदासपुर सीट- कांग्रेस के जाखड़ 1.93 लाख वोट से जीते-4 बार सांसद रहे थे विनोद खन्ना 

चंडीगढ़. कांग्रेस ने गुरदासपुर लोकसभा सीट 8 साल बाद बीजेपी से छीन ली। कांग्रेस कैंडिडेट सुनील जाखड़ ने बीजेपी के स्वर्ण सलारिया को 1 लाख 93 हजार 219 वोट से हराया। ये सीट विनोद खन्ना के निधन (27 अप्रैल) के बाद खाली हुई थी। गुरदासपुर की हार से अब बीजेपी के पास लोकसभा में 281 सीटें रह गई हैं। जाखड़ को 4 लाख 99 हजार 752, वहीं सलारिया को 3 लाख 6 हजार 533 वोट मिले। हमने तो गिफ्ट भेज दिया…
– आम आदमी पार्टी के कैंडिडेट मेजर जनरल (रिटा.) सुरेश खजूरिया को महज 23 हजार 579 वोट मिले।
– जाखड़ ने कहा, “मैं गुरदासपुर का आभार व्यक्त करता हूं कि उन्होंने पार्टी पर भरोसा जताया है। लोगों का कांग्रेस को जिताना मोदी सरकार की नीतियों को जवाब है। जीत बताती है कि लोगों ने कैप्टन अमरिंदर सिंह के एडमिनिस्ट्रेशन पर भरोसा जताया है।”
– नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा, “हमने सोनियाजी, राहुलजी को लाल रिबन से पैक कर जीत का गिफ्ट भेज दिया है। पंजे के थप्पड़ की गूंज दिल्ली तक सुनाई देगी।”
– सीएम अमरिंदर सिंह ने कहा कि ये विकास के एजेंडे की जीत है।
– “जाखड़ साहब की जीत काबिलियत की जीत है। वो संसद में बोलेंगे तो सोनियाजी, राहुलजी, कैप्टन साहब (अमरिंदर सिंह) का नाम ऊंचा होगा।”
– “जाखड़ साहब की जीत से जीजा-साले (प्रकाश सिंह बादल और विक्रम सिंह मजीठिया) को सबक मिला।”
– 2009 में गुरदासपुर लोकसभा सीट कांग्रेस के प्रताप सिंह बाजवा ने जीती थी। बाजवा ने विनोद खन्ना को हराया था।
11 अक्टूबर को था चुनाव
– गुरदासपुर उपचुनाव में 11 अक्टूबर को वोट डाले गए थे। इसमें 15.22 लाख मतदाताओं में से 56% लोगों ने वोटिंग की थी।
– 2014 के लोकसभा चुनाव में गुरदासपुर में 70% वोटिंग हुई थी। अप्रैल में विनोद खन्ना के निधन के बाद ये लोकसभा सीट खाली हुई थी।
बीजेपी से 4 बार सांसद रहे थे विनोद
– विनोद खन्ना बीजेपी के टिकट पर यहां से 4 बार (1998, 1999, 2004 और 2014) सांसद रहे थे।
– कुछ दिन पहले कांग्रेस कैंडिडेट जाखड़ ने उपचुनाव को मोदी सरकार का टेस्ट करार दिया था।
– गुरदासपुर संसदीय सीट में 9 विधानसभा क्षेत्र भोआ, पठानकोट, गुरदासपुर, दीनानगर, कादियां, फतेहगढ़ चूड़ियां, डेरा बाबा नानक, सुजानपुर और बटाला हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »