फिर वही अजीत जोगी की जात , जाँच और रीना बाबा साहब कंगाले की कमेटी

रायपुर.पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की जाति की जांच एक बार फिर कंगाले कमेटी ही करेगी। कमेटी में 6 सदस्य होंगे, सभी के नाम तय कर लिए हैं। मालूम हो कि जोगी ने कंगाले की अध्यक्षता वाली कमेटी की वैधता को हाईकोर्ट में चुनौती दी थी। इस पर हाईकोर्ट ने उनके पक्ष में फैसला दिया था। अब हाईकोर्ट के आदेश पर सरकार द्वारा नई कमेटी बनाकर जोगी की जाति की जांच करवाई जा रही है। नए सिरे से बनी कमेटी की अध्यक्ष इस बार भी आईएएस रीना बाबा साहब कंगाले होंगी।रीना बाबा साहेब कंगाले के नेतृत्व में बनाई गई कमेटी ने अजीत जोगी के आदिवासी होने की बात से इंकार कर दिया था। कमेटी ने अपने परीक्षण में पाया था कि जोगी ईसाई हैं। कमेटी के निर्णय के बाद छत्तीसगढ़ की राजनीति में खासा हंगामा हुआ था। यहां तक कि मुख्यमंत्री और विदायक के रुप में अजीत जोगी के दो कार्यकाल के साथ उनके पुत्र अमित जोगी की वर्तमान सदस्यता खतरे में पड़ गई थी। इन परिस्थितियों के बीच  आया हाईकोर्ट का आदेश जोगी पिता-पुत्र सहित उनकी नई पार्टी को नवजीवन देने वाला माना जा रहा है।

पिछली कमेटी में कंगाले ही कमेटी की अध्यक्ष थीं

उनकी कमेटी ने जोगी को आदिवासी मानने से इनकार कर दिया था। अब फिर कंगाले को जांच की कमान सौंपे जाने से जोगी की परेशानियां बढ़ सकती हैं। कमेटी की जांच के लिए कोई समय सीमा तय नहीं की गई है। बता दें कि पिछली कमेटी में कंगाले ही कमेटी की अध्यक्ष, सचिव व सदस्य थीं, वे विभाग की भी सचिव थीं।यहाँ बता दें कि जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के सुप्रीमो अजीत जोगी ने उनकी जाति की जांच के लिए गठित हाई पावर कमेटी में अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और सदस्य-सचिव पद पर रहीं IAS अधिकारी रीना बाबा साहेब कंगाले पर निशाना साधा था अजीत जोगी ने कहा कि तीन-तीन पदों पर रहने वाली अधिकारी गुपचुप तरीके से दुबई यात्रा पर गई थी और उनके दुबई यात्रा और खर्चों की जानकारी सरकार को भी थी। सरकार उसके खिलाफ कार्रवाई करने की तैयारी में थी। जिससे बचने के लिए उसने दबावपूर्वक ये रिपोर्ट तैयार की। अजीत जोगी ने ये भी कहा कि सरकार चाहे कितना भी दवाब बना लें मगर मैं हमेशा जीत कर ही आउंगा।

ये होंगे कमेटी के सदस्य
कंगाले के साथ कमेटी में शिक्षा संचालक एस प्रकाश, जीआर चुरेंद्र (संचालक भू-अभिलेख, डायरेक्टर लैंड रिकार्ड), बतौर एक्सपर्ट आदिम जाति कल्याण विकास विभाग के 2 डिप्टी डायरेक्टर रहेंगे। इस बात पर भी विचार किया जा रहा है कि कमेटी में विभाग के विशेष सचिव को भी रखा जाए। निर्णय होते ही जांच कमेटी की अधिसूचना जारी कर दी जाएगी। नई कमेटी को लेकर सीएम और विधि विभाग के बीच सहमति बन चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »