पूर्व IAS अफसर ने किया करोड़ों का गबन, मनी लॉन्डरिंग केस में चार्जशीट दायर

जालंधर. शहीदभगत सिंह के जन्म शताब्दी समारोह में हुए 1.43 करोड़ के गबन के फंसे पूर्व आईएएस अधिकारी स्वर्ण सिंह, उनकी पत्नी अमरजीत कौर,फरीदाबाद की जीएम एंटरटेनमेंट कंपनी के पार्टनर संजय गैहरां, विकास मेहरा और चंडीगढ़ की प्रोफेशनल स्टेज मैनेजमेंट कंपनी के मालिक सतबीर सिंह के खिलाफ ईडी ने सेशन कोर्ट में गुरुवार को मनी लॉन्डरिंग के केस में चार्जशीट दायर कर दी।शहीद भगत सिंह के जन्म शताब्दी समारोह में हुए 1.43 करोड़ के गबन के फंसे पूर्व आईएएस अधिकारी स्वर्ण सिंह की अमृतसर स्थित अजीत इन्क्लेव स्थित कोठी नंबर-43 कब्जे में ली है। इससे पहले ईडी ने 22 मार्च 2016 को इसी कोठी को मनी लॉन्डरिंग के केस में अटैच किया था।
 इसके अलावा स्वर्ण सिंह और उसकी पत्नी अमरजीत कौर के बैंक में जमा दस लाख रुपए और 20 लाख की एफडीआर केस में अटैच की गई थी।कोठी की कीमत 67,28000 रुपए है। ईडी ने केस बना कर दिल्ली हैड क्वार्टर भेज दिया था।
दिल्ली हैड क्वार्टर से कोठी को कब्जे में लेने के आदेश जारी हुए थे।
होशियारपुर के गांव कितना के परविंदर सिंह की आरटीआई के जरिए यह गबन उजागर हुआ था।
साल 2008 में खटकड़कलां में शहीद भगत सिंह के जन्म शताब्दी को लेकर राज्य सरकार ने सांस्कृतिक कार्यक्रम करवाया था।
 शेखर सुमन को 2.50 लाख दिए, मगर 9 लाख का बिल काटा गया था…
स्वर्ण सिंह सांस्कृतिक मामलों के प्रमुख सचिव और पंजाब कला परिषद के चेयरमैन थे। गबन में फरीदाबाद की जीएम एंटरटेनमेंट कंपनी के पार्टनर संजय गैहरां, विकास मेहरा और चंडीगढ़ की प्रोफेशनल स्टेज मैनेजमेंट कंपनी के मालिक सतबीर सिंह को सह आरोपी थे। समारोह में पॉप सिंगर दलेर मेहंदी के नाम पर पांच लाख, सिंगर उदित नारायण के नाम पर 12 लाख, संगीतकार उत्तम सिंह के नाम पर 20 लाख और साधना सरगम के नाम पर 10 लाख का बिल काटा गया था। उन्हें एक-एक लाख रुपए ही दिए गए थे। अभिनेता शेखर सुमन को 2.50 लाख दिए गए, मगर उन के नाम पर 9 लाख का बिल काटा गया था।
 प्रेम चोपड़ा फ्री दी थी इवेंट में उपस्थिति….
 बॉलीवुड एक्टर प्रेम चोपड़ा तो शहीद के नाम पर फ्री में आए थे। समारोह को लेकर कुर्सी और अन्य सामान की कोटेशन फर्जी थी।
मामले की जांच विजिलेंस ने की थी और गबन को लेकर मार्च 2011 को केस दर्ज किया गया था। ईडी ने दो साल पहले पूरे मामले पर संज्ञान लेते हुए जांच शुरू की थी।
ईडी ने स्वर्ण सिंह और उनकी पत्नी को मई 2014 में बुला कर पूछताछ की थी। केस में स्वर्ण सिंह अरेस्ट हुए थे और वह अब बेल पर चल रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »