10 साल में मध्य प्रदेश में 60 लाख फर्जी मतदाता; शिकायत करेंगे: कांग्रेस

नई दिल्ली. मध्य प्रदेश में बीते दस साल में जनसंख्या के अनुपात में वोटरों की तादाद में कथित तौर पर बेतहाशा बढ़ोत्तरी हुई है। कांग्रेस ने इसमें गड़बड़ी की आशंका जाहिर की है। राज्य में कांग्रेस चुनाव प्रचार समिति के अध्यक्षज्योतिरादित्य सिंधिया ने इस पर आपत्ति जताई है। वहीं, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने कहा है कि वह चुनाव आयोग से इसकी शिकायत करेंगे।

एक वोटर का नाम 26 लिस्ट में
– न्यूज एजेंसी के मुताबिक, सिंधिया ने यहां कहा, “यह भाजपा का किया धरा है। यह कैसे मुमकिन है कि पिछले 10 साल में राज्य (मध्य प्रदेश) की जनसंख्या 10% बढ़ी, लेकिन वोटरों की तादाद में 40% का इजाफा हो गया। हमने हर एक विधानसभा क्षेत्र में पड़ताल की तो पाया कि एक वोटर का नाम 26 लिस्टों में है। ऐसा दूसरी जगहों पर भी हुआ है।”

हम चुनाव आयोग को सबूत देंगे
– वहीं, कमलनाथ ने कहा, “हम चुनाव आयोग को सबूत देंगे कि राज्य में 60 लाख फर्जी वोटर हैं। ये नाम जानबूझकर लिस्ट में शामिल किए गए हैं। यह प्रशासनिक लापरवाही नहीं, प्रशासनिक दुरुपयोग है।”

राज्य में इसी साल होने हैं चुनाव

– बता दें कि मध्य प्रदेश की 230 विधानसभा सीटों के लिए इस साल के आखिरी तक चुनाव होना है। इसके साथ ही छत्तीसगढ़ और राजस्थान में भी चुनाव होंगे।

– अभी मध्य प्रदेश में 167 सीटों के साथ भाजपा सत्ता में है। दिसंबर 2013 में हुए चुनाव में कांग्रेस 57, बसपा 4 सीटों पर जीती थी। दो सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवार चुने गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »