सुप्रीम कोर्ट को 67 साल की हिस्ट्री में मिलीं 6 महिला जस्टिस,5 नए जजों को शपथ दिलाई

नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट में शुक्रवार को 5 नए जजों को चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया जेएस खेहर ने शपथ दिलाई। अब SC में जजों की संख्या 28 हो गई है। इनमें एक महिला भी शामिल हैं। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट को अपनी 67 साल की हिस्ट्री में 6 महिला जस्टिस मिली हैं।

शुक्रवार सुबह CJI के ऑफिस में जस्टिस संजय किशन कौन, जस्टिस नवीन सिन्हा, जस्टिस मोहन एम शांतानागौदर, जस्टिस दीपक गुप्ता और जस्टिस एस अब्दुल नजीर ने SC के जज के रूप में शपथ ली।
– बता दें कि ऐसा कम ही देखने में आता है कि हाईकोर्ट का चीफ जस्टिस ना होने के बावजूद किसी को SC में जज के तौर पर चुना जाए।
– जस्टिस एस अब्दुल नजीर कर्नाटक हाईकोर्ट में जज थे, उन्हें सुप्रीम कोर्ट का जज बनाया गया है।
– CJI जेएस खेहर, जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस जे चेलामेश्वर, जस्टिस रंजन गोगोई और जस्टिस मदन बी लोकूर के कॉलेजियम ने 5 नाम केंद्र के पास मंजूरी के लिए भेजे थे।
– प्रेसिडेंट प्रणब मुखर्जी ने बुधवार को इन नामों को मंजूरी दी थी। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में 31 जजों के पद हैं, जबकि अभी तक 23 ही काम कर रहे थे।
1989 में मिलीं पहली महिला जस्टिस
– सुप्रीम कोर्ट में पहली महिला जस्टिस एम फातिमा बीवी 1989 में अप्वाॅइंट की गईं। 1950 में सुप्रीम कोर्ट के गठन के 39 साल बाद ये अप्वाॅइंटमेंट हुआ था।
– जस्टिस फातिमा बीवी को केरल हाईकोर्ट में जज के रूप में रिटायरमेंट के बाद सुप्रीम कोर्ट में जज के तौर पर अप्वाॅइंट किया गया।
– उन्होंने 29 अप्रैल 1992 तक SC जस्टिस के तौर पर काम किया और बाद में उन्हें तमिलनाडु का गवर्नर बना दिया गया।
– सुप्रीम कोर्ट की दूसरी महिला जज सुजाता वी मनोहर थीं, जिन्होंने 8 नवंबर 1994 से 27 अगस्त 1999 तक काम किया।
सबसे लंबे समय तक SC में जज रहीं जस्टिस रूमा पाल
– SC में सबसे लंबे समय तक जज जस्टिस रूमा पाल रहीं। उन्हें 28 जनवरी 2000 को अप्वाॅइंट किया गया और 2 जून 2006 को उनका रिटायरमेंट हुआ।
– इसके बाद झारखंड हाईकोर्ट में चीफ जस्टिस रहीं ज्ञान सुधा मिश्रा को 2010 में सुप्रीम कोर्ट में जज अप्वाॅइंट किया गया। 27 अप्रैल 2014 को उन्होंने रिटायरमेंट लिया।
एक दिन के लिए ऑल वुमेन बेंच का रिकॉर्ड
– 2011 में जस्टिस रंजना प्रकाश देसाई की SC में जज अप्वाइंट होने के बाद, पहला मौका आया जब सुप्रीम कोर्ट में एक समय में 2 महिला जज रहीं।
– जस्टिस ज्ञान सुधा मिश्रा और जस्टिस रंजना प्रकाश देसाई ने 2013 में एक दिन के लिए ऑल वुमेन बेंच होल्ड कर रिकॉर्ड बनाया।
– बता दें कि इस वक्त SC में केवल एक महिला जस्टिस भानुमति हैं। उन्हें अगस्त 2014 को अप्वाइंट किया गया था और जुलाई 2020 में उनका रिटायरमेंट है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »