रेप-अपहरण मामले में छग के पूर्व मुख्यमंत्री के OSD की सहयोगी भाजपा नेत्री गिरफ्तार

युवती के रेप और अपहरण मामले सह आरोपी भाजपा नेत्री को राजनांदगांव में पुलिस ने गिरफ्तार किया है। भाजपा नेत्री जबिता मंडावी जगदलपुर की पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष भी रह चुकी है।पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के OSD ओपी गुप्ता की सहयोगी जुबिता मंडावी पर युवती से रेप और अपहरण के सनसनीखेज मामले में सहयोगी रहने का आरोप लगाया था। इस मामले में ओपी गुप्ता की पहले ही गिरफ्तारी हो चुकी थी, जबकि जबिता फरार चल रही थी।जुबिता को राजनांदगांव के मोहला पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

भाजपा नेत्री मंडावी पर पीड़िता और उसके परिवार के सदस्यों को जबरिया अपहरण कर ओडिशा में गोपनीय जगह में रखने का आरोप है। जबिता मंडावी पर आरोप है कि स्थानीय बालिका सुधार गृह से परिजनों के साथ घर जाने के लिए निकली रेप पीड़िता को बलपूर्वक अपने कब्जे में कर लिया और पीड़िता समेत माता-पिता और रिश्तेदारों को ओडिशा के नयागढ़ में बंधक बनाकर रखा। पीड़िता के परिजनों की शिकायत पर मोहला पुलिस ने छानबीन शुरू की और इसके बाद अपहृत पीड़िता और परिजनों को छुड़ाया गया।पीड़िता की शिकायत के बाद मोहला पुलिस ने ओपी गुप्ता के भाई और चार लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। इस पूरे मामले में मंडावी पर अपहरण का मामला दर्ज किया था।ओपी गुप्ता(op gupta) पर रेप का आरोप लगाने वाली लापता पीड़िता ओडिशा(Odisha) में मिली. पुलिस ने पीड़िता को उसके परिवार समेत बरामद किया. पीड़िता को उसके मां, पिता और भाई के साथ ओडिशा से नयागढ़ में बरामद किया गया था .ओपी गुप्ता पर यौन उत्पीड़न का जुर्म दर्ज कराने वाली नाबालिग पीड़िता बीते 4 मार्च से अपने पिता, मां और भाई के साथ लापता थी . पीड़िता के रिश्तेदारों ने राजनांदगांव के मोहला थाने में लापता होने की शिकायत दर्ज कराई थी. इसके बाद पुलिस ने तलाश शुरू की

एसपी जितेन्द्र शुक्ला ने बताया कि फरार महिला को गिरफ्तार करज न्यायालय में पेश किया जा रहा है। इधर, एसपी के पदभार ग्रहण करने के बाद पुलिस ने आरोपी महिला की खोजबीन शुरू कर दी थी।पूर्व मुख्यमंत्री के ओएसडी ओपी गुप्ता के अनाचार और उसके बाद पीड़िता और उसके परिवार का कोर्ट में बयान बदलवाने के लिए दवाब बनाने का भी जबिता पर आरोप था। राजनांदगांव जिले के मोहला पुलिस ने पांचवी आरोपी के रूप में किया गिरफ्तार किया है 

राजनांदगांव की रहने वाली नाबालिग छात्रा ने गुप्ता पर यौन शोषण का आरोप लगाया है। उसकी शिकायत पर रायपुर की राखी थाना पुलिस ने  ओपी गुप्ता को उसके घर से गिरफ्तार किया था। आरोपी गुप्ता पहले पूर्व सीएम सिंह का ओएसडी था। अभी निजी सचिव (पीए) के तौर पर काम कर रहे थे।राजनांदगांव के एक गांव की रहने वाली किशोरी को उसके पिता पढ़ाई के लिए वर्ष 2016 में गुप्ता आवास पर छाेड़ गए थे। यहां छात्रा पढ़ाई के साथ घरेलू काम किया करती थी। तब नाबालिग 8वीं कक्षा की छात्रा थी। वर्ष 2016 से दिसंबर 2019 के बीच उसका कई बार शारीरिक शोषण किया गया गया। आरोपी गुप्ता ने नया रायपुर स्थित अपने सरकारी आवास में छात्रा से दुष्कर्म किया। विरोध करने पर आरोपी उसे जान से मारने की धमकी देता था।छात्रा का कहना है कि उसके पिता भी मिलने के लिए कम ही आते थे, ऐसे में वह डर गई थी। बाद में छात्रा ने सारी बात परिजन को बताई। पहले तो वह डर से चुप रहे, लेकिन फिर एक एनजीओ के माध्यम से महिला थाने में इसकी शिकायत दर्ज कराई गई। पुलिस की ओर से मामले की जांच में पुष्टि होने के बाद ओपी गुप्ता को गिरफ्तार कर लिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Translate »