राजस्थान की आईएएस बेटी डॉ. मंजू श्योराण को मिला गोल्ड

सीधे आईएएस और राजस्थान कैडर मिलने वाली जिले की पहली महिला आईएएस बनने का गौरव हासिल करने वाली डॉ. मंजू श्योराण जाखड़ ने एक बार फिर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है.यह सब डॉ. मंजू और उनके अलावा पांच अन्य प्रशिक्षु आईएएस की टीम के कारण हुआ है. मसूरी में चल रही उनकी ट्रेनिंग के दौरान हुई विभिन्न गतिविधियों में डॉ. मंजू ने अपनी छह सदस्य टीम के साथ गोल्ड मेडल जीता है.राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने आईएएस डॉ. मंजू श्योराण जाखड़ व उनकी टीम के अन्य पांच सदस्यों को गोल्ड मेडल दिया. मसूरी के लाल बहादुर शास्त्री प्रशिक्षण अकादमी में कार्यक्रम हुआ, जिसमें सिविल सर्विसेज के 377 प्रशिक्षुओं में से डॉ. मंजू सहित 16 प्रशिक्षणार्थियों को गोल्ड मेडल दिया गया हैं, जिनमें आईएएस परीक्षा को टॉप करने वाली टीना डाबी भी शामिल हैं.डॉ. मंजू के पति डॉ. सुरेश जाखड़ ने बताया कि मंजू की इस उपलब्धि पर पूरे परिवार में खुशी है. आपको बता दें कि डॉ. मंजू रामू की ढाणी अलसीसर की बेटी और सौंथली गांव की बहू हैं.आईएएस एग्जाम में ऑल इंडिया लेवल पर डॉ. मंजू ने 59वीं रैंक प्राप्त की थी, जिसके चलते उन्हें राजस्थान कैडर मिला है. उनका प्रशिक्षण मसूरी में 12 मई 2017 तक चलेगा. प्रशिक्षण के दौरान डॉ. मंजू सहित उनकी टीम के सदस्यों ने बिहार के इंद्रपुरी गांव का दौरा किया था और उसकी रिपोर्ट बनाई थी. इस टीम में डॉ. मंजू के अलावा सूर्यप्रकाश, जयती, सिद्धार्थ जैन, अभिनव गोयल व अनिमेष तिवारी भी शामिल थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »