मप्र में नाटकीय राजनीतिक मोड़ 13 मार्च को राज्यसभा की तीन सीटों के लिए नामांकन से पहले

कमलनाथ सरकार द्वारा बीते तीन दिन में भाजपा के पूर्व मंत्रियों पर की गई कार्रवाई के बाद भाजपा का केंद्रीय नेत्तृव भी आर-पार के मूड में आ गया है। शाह के साथ शनिवार को एक नहीं कई दौर में प्रदेश के नेता केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने बातचीत की। प्रधान भी मध्य प्रदेश से ही राज्यसभा सदस्य हैं। भाजपा के ऑपरेशन अंजाम की खबर कांग्रेस खेमे को भी लग गई है। इसके बाद सीएम निवास पर कमलनाथ, दिग्विजय सिंह समेत राजनीतिक मामलों की समिति ने डैमेज कंट्रोल को लेकर शनिवार रात फिर एक बार बैठक की।प्रदेश में चल रहे राजनीतिक संग्राम के ओर तेज होने के आसार बन गए हैं। कांग्रेस के लापता तीन विधायकों का अब तक सुराग नहीं लगा है। 13 मार्च को राज्यसभा की तीन सीटों के लिए नामांकन का आखरी दिन है। जो कुछ बड़ा होना है वो 13 मार्च तक हो जाएगा।

इधर, रविवार शाम को दिल्ली में राज्यसभा के उम्मीदवार चयव के लिए भाजपा की बैठक होने जा रही है। इस बैठक के बाद कुछ बड़े परिणाम आने की उम्मीद की जा रही है। भाजपा से जुड़े सूत्रों का कहना है कि प्रदेश में चल रही राजनीतिक उठापटक पर गृहमंत्री अमित शाह नजर रखे हुए हैं। निर्दलीय विधायकों के बार-बार पैतरें बदलने के बाद भाजपा ने भी अपनी रणनीति बदली है। इसलिए भाजपा के फोकस में अब निर्दलीय की बजाय कांग्रेस के विधायक हैं। भाजपा के वरिष्ठ नेता कांग्रेस विधायकों से सीधे संपर्क में हैं।

शेरा फिर से दिल्ली गए: चार दिन से बेंगलुरू में डटे निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा शनिवार को  भोपाल लौट आए। वे जिस फ्लाइट से लौटे, उसमें भाजपा नेता नरोत्तम मिश्रा साथ थे। एयरपोर्ट पर पहुंचते ही जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा उन्हें सीएम हाउस ले गए, जहां मुख्यमंत्री से मुलाकात के बाद शेरा ने कहा कि कमलनाथ राम हैं तो मैं उनका हनुमान हूं। सरकार में उन्हें जल्द बड़ी जिम्मेदारी मिलेगी, हालांकि देर शाम शेरा फिर दिल्ली चले गए। बेंगलुरू में मौजूद कांग्रेस के तीन विधायक बिसाहूलाल सिंह, हरदीप डंग और रघुराज कंसाना भोपाल नहीं लौटे हैं। गायब कांग्रेस विधायकों पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह का कहना है इन तीन विधायक कहां है, ये बात विधायक निर्दलीय विधायक शेरा और भाजपा विधायक अरविंद भदौरिया ही बता सकते हैं।

दिग्विजय सिंह ने दी कमलनाथ को बधाई: रविवार सुबह ही पूर्व मुख्यमत्री दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री कमलनाथ को ट्वीट कर बधाई दी है। दरअसल, मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शनिवार को हरिवंश राय बच्चन की कविता ‘अग्निपथ’ ट्वीट करने के बाद एक पत्र प्रदेश की जनता के नाम लिखा था। इस पत्र में उन्होंने प्रदेश की ताजा राजनीतिक हालत पर दुख व्यक्त किया था। जवाब में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने सीएम को चिट्‌ठी लिख दी। दिग्विजय सिंह ने अपने ट्वीट में कहा है कि ‘बधाई कमलनाथ जी। यही आपकी शक्ति है, हिम्मत के साथ हर भाजपा की साज़िश का मुक़ाबला हम करेंगे। हम सब मप्र में जनता के 2018 के विधान सभा के मतदाताओं के निर्णय का सम्मान करते हुए भाजपा की साज़िश कामयाब नहीं होने देंगे।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Translate »