प्रज्ञा को जिंदा जलाने की धमकी वाले विधायक ने कहा- कहावत ‘मुंह में राम बगल में छुरी’ वैसे ही नहीं बनी

भोपाल। भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर और कांग्रेस के बीच चली आ रही जुबानी जंग खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। प्रज्ञा ठाकुर को जिंदा जला देने की धमकी देने वाले विधायक ने अब प्रज्ञा को तीन पेज का पत्र लिख गांधी विचारधार अपनाने की सलाह दी है। विधायक ने कहा है कि अगर आप ऐसा करती हैं तो आपकी मनोवृत्ति सुधरेगी और हम आपका स्वागत करेंगे।

कांग्रेस विधायक गोर्वधन दांगी ने अपने तीन पेज के पत्र में प्रज्ञा ठाकुर को लिखा है कि आपने एक बार नहीं कई बार गोडसे को देश भक्त कहा। इसमें आपकी गलती नहीं हैं आप तो मालेगांन कांड से मशहूर हैं। सांप्रदायिकता आपके जेहन में बसती है। इसली लिए हिंसा का प्रतिरूप माथूराम गोडसे रह-रह कर आपकी जबान पर आ जाता है। यह कहावत वैसे ही नहीं बनी कि ‘मुंह में राम बगल में छुरी’ आपके दिल और दिमाग में गांधी है या नहीं पर आपका गोडसे चिंतन जरूर आपके मुंह से बार-बार बाहर आ जाता है।

विधायक दांगी ने लिखा है कि आपको गोडसे छोड़ गांधी की विचारधारा स्वीकार करना चाहती हैं, तो मेरे जिले में राजगढ़ के मेरे शहर ब्यावरा आइए। हम शहरवासी गांधी जी का भजन ईश्वर अल्लाह, तेरो नाम, सबको सनमति दे भगवान गाकर आपका स्वागत करेंगे। और फिर आप और हम मिलकर भजन गाएंगे। हम आपको गांधी साहित्य भी भेंट करेंगे। आप इसे पढ़ेंगी तो आपके मन से हिंसक मनोवृत्ति हमेशा के लिए दूर हो जाएगी। एक गांधी दर्शन के अनुयायी होने के नाते मेरा परिवार, मेरा शहर और जिला आपका गांधीमय परिवेश में स्वागत करने तैयार है।

दरअसल, पिछले सप्ताह प्रज्ञा ठाकुर द्वारा संसद की कार्यवाही के दौरान की नाथूराम गोडसे पर दिए गए बयान के बाद जमकर हंगामी हुआ था। गुरुवार को मप्र की राजगढ़ जिले के ब्यावरा विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस विधायक गोवर्धन दांगी द्वारा जिंदा जलाने की धमकी दी गई थी। हालांकि दांगी ने शुक्रवार को बयान पर खेद व्यक्त करते हुए माफी मांग ली थी। इसके तुरंत बाद प्रज्ञा ठाकुर ने ट्वीट कर विधायक को चेतावनी दी थी कि वे आठ दिसंबर की शाम को चार बजे ब्यावरा आ रही हैं, जला दीजिएगा। प्रज्ञा ने ट्वीट कर कांग्रेस की संस्कृति और 1984 के सिख नरसंहार का जिक्र किया था।

विधायक ने कहा था- सांसद यहां आईं तो जिंदा जला देंगे
ब्यावरा में गुरुवार को नाथूराम गोडसे के समर्थन में बयान देने पर भोपाल सांसद प्रज्ञा ठाकुर का पुतला दहन किया था। प्रदर्शन के दौरान ब्यावरा विधायक दांगी ने कहा था कि यदि साध्वी प्रज्ञा यहां आईं तो उन्हें जिंदा जला देंगे। टिप्पणी पर मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्विटर पर ब्यावरा विधायक को माफी मांगने की नसीहत देते हुए लिखा था- बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है कि ऐसी मानसिकता के लोग सभ्य समाज में हमारे बीच हैं। एक महिला के लिए ऐसी टिप्पणी करने वाले की जितनी निंदा की जाए कम है। सत्ता के नशे में इतना चूर होना ठीक नहीं है, तत्काल माफी मांगें।

विधायक ने बयान पर खेद जताया, कहा- गांधीवादी विचारों का समर्थक

विधायक दांगी ने प्रज्ञा को लेकर दिए बयान पर खेद जताया है। दांगी ने सफाई में शुक्रवार को कहा था कि सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने जो टिप्पणी राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे के संबंध में की थी, उससे मैं बहुत व्यथित था। मैं शुरू से ही गांधीवादी विचारों का प्रबल समर्थक रहा हूं। उनकी टिप्पणी के विरोध में हमारी पार्टी ने प्रदर्शन किया था। इसमें दिए वक्तव्य में यदि मेरे मुंह से ऐसे कुछ शब्द निकले हों जिनसे किसी को ठेस पहुंची है तो मैं इसके लिए खेद व्यक्त करता हूं। मेरी मंशा ऐसी कतई नहीं थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Translate »