पांच साल से बिना बताए छुट्टी पर थी आईएएस ऑफिसर, विभाग ने माना ‘इस्तीफा दे चुकी’

पांच वर्षों से अधिक समय तक बिना बताए छुट्टी पर रहने के लिए एक वरिष्ठ नौकरशाह को कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग ने ‘इस्तीफा दे चुकी’ मान लिया गया है.कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग की ओर से जारी एक आदेश में कहा गया है कि राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने निर्देश दिया है कि नगालैंड काडर की 2001 बैच की आईएएस अधिकारी अनु अग्रवाल को अखिल भारतीय सेवा (अवकाश) नियम, 1955 के नियम 7(2) के तहत सेवा से इस्तीफा दे चुकी माना जाए.

नियम के तहत सेवा का कोई सदस्य यदि लगातार पांच वर्ष से अधिक समय तक ड्यूटी से अनुपस्थित रहता है तो उसके बारे में मान लिया जाता है कि उसने इस्तीफा दे दिया है.अग्रवाल के पास मेडिसिन की बैचलर डिग्री है और उन्होंने केंद्र और नगालैंड दोनों ही जगह सेवा की है. उनके सेवा रिकार्ड के तहत उन्होंने अपने काडर राज्य में मानव संसाधन विकास विभाग में कार्य किया था और वह फिलहाल छुट्टी पर हैं. डीओपीटी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि केंद्र अनधिकृत छुट्टी पर रहने वाले आईएएस अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई कर रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »