पलानीसामी : इलेक्शन हारे और करप्शन के आरोप भी ,फिर भी बनेगे तमिलनाडु के सीएम

चेन्नई. इडाप्पाडी के. पलानीसामी, तमिलनाडु के सीएम बनने जा रहे हैं। शशिकला के जेल जाने के बाद उन्हें सीएम बनने का मौका मिला। पलानीसामी राज्य की गौंदर कम्युनिटी से आते हैं। ये कम्युनिटी लंबे वक्त से जयललिता और AIADMK के साथ रही है। हालांकि, सत्ता में इनको भागीदार कम ही बनाया गया। पलानीसामी इलेक्शन भी हारे और उन पर करप्शन के आरोप भी लगे।
पलानीसामी शशिकला के करीबी माने जाते हैं। 15 साल से शशि की फैमिली से उनका जुड़ाव रहा है। जब ये तय हो गया कि शशिकला को जेल जाना होगा तभी इस बात के कयास लगने लगे थे कि पलानीसामी ही सीएम बनेंगे।
– उनके सामने अपने विधायकों को एकजुट रखना और सरकार को ठीक से चलाने का चैलेंज रहेगा। शशिकला का गुट ओपीएस गुट को अलग-थलग रखना चाहता है, इसलिए ये चैलेंज ज्यादा बड़ा हो जाता है।
– हालांकि, उन्हें बेस बनाकर रखने वाला नेता नहीं माना जाता। उनके होम डिस्ट्रक्ट सलेम में ही AIADMK बिखरी हुई है।
 एक जीत और फिर हार
– पलानीसामी 1983 में पार्टी से जुड़े। 1989 में जब पार्टी टूटी तो वो जयललिता के साथ चले गए। इसी साल उन्होंने पहली बार इलेक्शन लड़ा और जीते भी।
– पलानी 1996 में असेंबली, 2004 में लोकसभा और फिर 2006 में असेंबली इलेक्शन हारे।
– उन्हें लो प्रोफाइल माना जाता है लेकिन शशिकला के करीबी होने का फायदा मिला। पार्टी के फाइनेंशियल मामलों का जिम्मा उन्हें सौंपा गया। उन पर कई बार करप्शन के आरोप लगे। लेकिन, माना जाता है कि शशिकला ने उन्हें हर बार मुश्किलों से उबार लिया।
– 2011 से 2016 के बीच जयललिता ने कई मिनिस्टर्स को हटाया या उनके पोर्टफोलियो बदले, लेकिन पलानीसामी बने रहे।
– AIADMK में उनके बड़े कद की एक वजह ये भी रही कि सलेम में उनके बराबर का कोई दूसरा नेता नहीं था। 2011 का असेंबली इलेक्शन वो 40 हजार वोटों से जीते।
 कौन हैं पलानीसामी
– पलानीसामी का जन्म 2 मार्च, 1954 में हुआ। वे कोंगु रीजन में सलेम जिले इदापडी इलाके से हैं।
– इदापडी सीट से वे 1989, 1991, 2011 और 2016 में विधायक चुने गए।
– जयललिता सरकार में मंत्री थे। उन्हें मिनिस्टर फॉर हाईवेज एंड माइनर पोर्ट्स की जिम्मेदारी मिली थी।
– जब जयललिता को दिल का दौरा पड़ा था और वे जब हॉस्पिटल में एडमिट थीं, तब पन्नीरसेल्वम के अलावा पलानीसामी का नाम भी आया था। लेकिन बाद में पन्नीरसेल्वम को सीएम बनाया गया।
– पलानीसामी गौंडर कम्युनिटी से हैं। इस बैकवर्ड जाति को थेवर कम्युनिटी के साथ AIADMK का सबसे बड़ा वोट बैंक माना जाता है।
– बता दें कि शशिकला थेवर कम्युनिटी से हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »