आईएएस दीपक सिंघल बोले-अमर सिंह को 96.5 लाख पहुंचाने वाले ऑडियो टेप में उनकी आवाज नहीं

ब्यूरो, लखनऊ : कथित टेप मामले में वरिष्ठ आईएएस अधिकारी दीपक सिंघल ने लोकायुक्त को जवाब भेज दिया है। उन्होंने कहा कि पूर्व सपा नेता अमर सिंह के साथ कथित बातचीत में 96.5 लाख रुपये पहुंचाने वाले ऑडियो टेप में उनकी आवाज नहीं है बल्कि वह कोई अन्य दीपक है। दीपक सिंघल ने यह जवाब एक्टिविस्ट डॉ. नूतन ठाकुर द्वारा लोकायुक्त के यहां इस संबंध में दाखिल शिकायत पर दिया। एक अन्य पत्र के जरिए दीपक सिंघल ने कहा, कथित बातचीत का उक्त ऑडियो टेप 2006 का है, जबकि लोकायुक्त अधिनियम के मुताबिक लोकायुक्त पांच साल पुराने मामले की ही जांच कर सकते हैं।

लोकायुक्त को दिए गए जवाब में दीपक सिंघल ने स्पष्ट किया है कि यह प्रकरण जिस समय का बताया जा रहा है, उस समय अमर सिंह उत्तर प्रदेश विकास परिषद के अध्यक्ष थे और परिषद का सचिव होने के नाते वह लगातार अमर सिंह को शासकीय कार्यों से जुड़ी सूचना देते थे जो किसी प्रकार से अनुचित नहीं है। उन्होंने आरोप लगाया कि अधिकारियों के एक समूह से मिलीभगत कर नूतन ठाकुर नक उन्हें बदनाम करने की नीयत से इस तरह की आधारहीन और फर्जी शिकायत की है। हालांकि, उन्होंने पत्र में किसी अधिकारी का नाम नहीं लिया है। उन्होंने डॉ. नूतन ठाकुर के खिलाफ झूठी शिकायत करने पर कड़ी कार्रवाई की भी मांग की है।

डॉ. नूतन ठाकुर ने दीपक सिंघल और अमर सिंह के बीच कथित बातचीत के तीन ऑडियो टेपों को लेकर लोकायुक्त के यहां शिकायत दाखिल की है। नूतन ठाकुर के मुताबिक इन टेपों में शुगर डील, गैस डील, एसईजेड के टेंडर डॉक्यूमेंट, भूमि आवंटन में मनमाफिक बदलाव, आईएएस संजीव शरण के साथ नोएडा और ग्रेटर नोएडा में हिस्सेदारी, तत्कालीन मुख्य सचिव पर बाहरी दवाब डलवाने और आरडीए वाले देवेंदर कुमार को 96.5 लाख रुपये पहुंचाने जैसी बातें शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »